जैन दर्शन में योग B.A.(P), 4th semester, SEC- Yoga Philosophy

जैन दर्शन में योग के सिद्धांत को समझने के लिए इंटरनेट पर उपलब्ध सहायक सामग्री
विडियो-
1* ‘Yoga in Jainism’ part of the film “History of Yoga”जैन धर्म में योग ( फिल्म “योग का इतिहास” का एक अंश)https://youtu.be/pgpVGWOJuk0

2* “शंका समाधान” प्रोग्राम में जैन मुनि प्रमाणसागर जी द्वारा “जैन दर्शन में  योग व ध्यान”  से संबंधित प्रश्न का आगम समत्त उत्तर – https://munipramansagar.net/meditation-and-yoga-in-jainism/

लेख1* “योग विज्ञान के मूल तत्व” पुस्तक में संकलित जिनेन्द्र जैन जी का लेख ‘ जैन धर्म व योग’https://www.researchgate.net/publication/337592839_Yoga_and_Jainism_Hindi

पुस्तक1*आचार्य महाप्रज्ञ द्वारा लिखित “जैन योग”
https://epustakalay.com/book/6670-jain-yog-by-acharya-mahapragya/

दावों की विश्वसनीयता (Credibility of claims)

B.A.(P) 6th semester, B.A.(H) Philosophy, 3rd semester, SEC- Critical Thinking and Decision Making

व्यक्तिपरक और वस्तुनिष्ठ दावे

(Subjective and objective claims) B.A.(p) 6th semester, B.A.(H) philosophy, 3rd semester, SEC- Critical Thinking

मार्टिन हेडेगर (पाठ-8,पुस्तक- अस्तित्ववाद,लेखक-डॉ हृदयनारायण मिश्र एवं श्री प्रतापचन्द्र शुक्ल प्रकाशक-किताबघर,कानपुर, 1968)

यह पुस्तक केंद्रीय पुस्तकालय,दिल्ली विश्वविद्यालय में उप्लब्ध है । विद्यार्थी इसे अपने B.A. (Hons) Philosophy, 2nd year, Text of Western Philosophy पेपर के लिये एक हेल्प है बुक की तरह प्रयोग कर सकते हैं।


दर्शन शास्त्र पर हिन्दी में व्याख्यान

कई बार कोशिशें नहीं होती और कई बार की गयी कोशिश और उसके परिणामों का लाभ सभी तक नहीं पहुंच पाता।आवश्यकता है कि हर कोशिश के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोग जानें। CEC (Consortium  for Educational Communication) व्यास टीवी पर अलग-अलग विषयों पर हिन्दी और अंग्रेजी दोनों माध्यम में विशेषज्ञों के वीडियो व्याख्यान उपलब्ध कराना एक ऐसा ही सरहनीय प्रयास है। दर्शन शास्त्र विषय के अब तक दोनों माध्यम के मिलाकर 122 से अधिक व्याख्यान प्रस्तुत किये जा चुके हैंं। दर्शन शास्त्र के हिन्दी माध्यम के विद्यार्थी दर्शन शास्त्र का सामान्य परिचय,भाषा दर्शन,भारतीय दर्शन,उत्तर आधुनिक दर्शन,मन/ बुद्धि दर्शन पर व्याख्यान देख सकते हैं। नीचे दिये लिंक पर क्लिक करें https://www.youtube.com/playlist?list=PLNsppmbLKJ8KUxbiDeYrzSo-OnBjEIQbR

धर्म दर्शन की रूप-रेखा, लेखक -हरेन्द्र प्रसाद सिन्हा 

यह पुस्तक धर्म दर्शन से जुड़ी विभिन्न समस्याओं का तुलनात्मक एवं आलोचनात्मक अध्ययन प्रस्तुत करती है।लेखक ने दर्शन शास्त्र विषय के छात्रों को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय में स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर पढ़ाये जाने वाली धर्म-दर्शन से सम्बंधित विषय-वस्तु को एक पुस्तक में समाहित करने की सार्थक कोशिश की है।इस पुस्तक के दो खंड हैं। पहले खंड में 22 अध्याय और दुसरे खंड में 11अध्याय हैं। आप यह पुस्तक नीचे दिये लिंक से डाऊनलोड कर सकते हैं। https://epustakalay.com/book/14899-dharm-darshan-ki-roop-rekha-by-harendra-prasad-sinha