धर्म दर्शन की रूप-रेखा, लेखक -हरेन्द्र प्रसाद सिन्हा 

यह पुस्तक धर्म दर्शन से जुड़ी विभिन्न समस्याओं का तुलनात्मक एवं आलोचनात्मक अध्ययन प्रस्तुत करती है।लेखक ने दर्शन शास्त्र विषय के छात्रों को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय में स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर पढ़ाये जाने वाली धर्म-दर्शन से सम्बंधित विषय-वस्तु को एक पुस्तक में समाहित करने की सार्थक कोशिश की है।इस पुस्तक के दो खंड हैं। पहले खंड में 22 अध्याय और दुसरे खंड में 11अध्याय हैं। आप यह पुस्तक नीचे दिये लिंक से डाऊनलोड कर सकते हैं। https://epustakalay.com/book/14899-dharm-darshan-ki-roop-rekha-by-harendra-prasad-sinha